गरुड़ पुराण में महापाप माने गए हैं ये 5 काम

गरुड़ पुराण में अच्‍छे और बुरे कर्मों के बारे में बताया गया है. जीवन में अच्‍छे काम करने वालों को स्‍वर्ग मिलता है. वहीं धर्म की राह पर चलने वाले लोग जीवन-मृत्‍यु के चक्र से मुक्‍त होकर बैकुंठधाम में स्‍थान पाते हैं.

वहीं गरुड़ पुराण में कुछ ऐसे कामों के बारे में भी बताया गया है, जिन्‍हें करने वालों को नरक में बहुत कष्‍ट भुगतने पड़ते हैं.

इन कामों को गरुड़ पुराण में महापाप की श्रेणी में रखा गया है. ऐसे लोगों को जीवन में भी और मरने के बाद भी बहुत यातनाएं भुगतनी पड़ती हैं.

गरुड़ पुराण के अनुसार भ्रूण हत्‍या करना या गर्भवती महिला को मारना महापाप होता है. ऐसा व्‍यक्ति मरने के बाद नरक में खूब यातनाएं भोगता है.

महिलाओं का शोषण करने वाले, उन्‍हें प्रताड़ना देने वाले लोगों को कठोर दंड भुगतना पड़ता है. महिलाओं के साथ गलत कार्य करना महापाप है.

पराई स्त्री पर बुरी दृष्टि रखने वाले लोगों को भी गरुड़ पुराण में महापाप माना गया है. इन लोगों को नरक में भी बहुत कष्‍ट सहना पड़ता है.

बच्‍चों का शोषण करने वालों को, उनके साथ गलत काम करने वालों को जीते जी और मरने के बाद भी बहुत दुख झेलने पड़ते हैं.

असहायों का मजाक उड़ाना भी महापाप है. इन 5 महापाप करने वालों से भगवान कभी प्रसन्‍न नहीं होते हैं और इनका दान-पुण्‍य भी इन्‍हें नरक में जाने से नहीं बचा पाता है.