प्रोटीन पाउडर या सत्तू, सेहत के लिए कौन है सबसे ज्यादा फायदेमंद? एक्सपर्ट से जानें

प्रोटीन हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है. प्रोटीन शरीर के विकास, कोशिकाओं के टूट-फूट की मरम्मत के लिए जरूरी होता है.

प्रोटीन की पूर्ति के लिए बहुत से लोग व्हे प्रोटीन पाउडर का सेवन करते हैं जो कि काफी महंगा होता है. एक्पसर्ट्स का कहना है कि इसके विकल्प के रूप में सत्तू पाउडर का सेवन किया जा सकता है.

सत्तू शरीर में प्रोटीन की पूर्ति करता है, साथ ही गर्मियों में इसका सेवन शरीर को ठंडक प्रदान करता है. सत्तू कई तरह से हमारे लिए फायदेमंद है जिनमें से कुछ के बारे में हम आपको बता रहे हैं.

सत्तू का सेवन पेट को साफ रखता है और इससे पाचन संबंधी बीमारियां जैसे कब्ज, पेट फूलना, एसिडिटी, पेट दर्द जैसी समस्याएं दूर होती हैं.

सत्तू हाई प्रोटीन और फाइबर का अच्छा स्रोत होता है जिसे पीने से पेट देर तक भरा महसूस होता है जिससे हमें बार-बार खाने की इच्छा नहीं होती और वजन कम करने में मदद मिलती है.

सत्तू में फाइबर और प्रोटीन होता है जो कोलेस्ट्रॉल लेवल कम रखने में मदद करते हैं. सत्तू का सेवन ब्लड प्रेशर कम करने में भी मददगार होता है. कम कोलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर लेवल हृदय को स्वस्थ रखने में मदद करता है.

सत्तू हाई प्रोटीन फूड है जो शाकाहारी लोगों के प्रोटीन की जरूरत को पूरा कर सकता है. प्रोटीन मांसपेशियों की मजबूती और उनके विकास के लिए जरूरी होती है और सत्तू का सेवन इसमें मदद करता है.

दूध से पनीर बनाते समय ठोस दूध निकालने के बाद जो पानी बच जाता है, व्हे प्रोटीन उसी से बनाया जाता है. यह कंप्लीट प्रोटीन होता है क्योंकि इसमें शरीर के लिए जरूरी 9 एमिनो एसिड पाए जाते हैं.

प्रोटीन पाउडर का सेवन इम्यूनिटी को मजबूत करता है और शरीर को बीमारियों से बचाए रखता है. व्हे प्रोटीन वेट लॉस में मददगार होता है. इससे ब्लड शुगर लेवल, भी सही रहता है.

एक्सपर्ट्स का कहना है सत्तू सस्ता और आसानी से मिलने वाला भारतीय फूड है जबकि व्हे प्रोटीन महंगा पड़ता है. दोनों ही हेल्दी हैं और प्रोटीन के लिए अधिकतर लोग व्हे प्रोटीन पसंद करते हैं.सत्तू या व्हे प्रोटीन,

हालांकि, सत्तू प्रोटीन से भरपूर होती है जिसे खुद से तैयार कर खाया जा सकता है. इससे शरीर में हानिकारक केमिकल्स जाने का खतरा भी नहीं होता.