इस दिशा में कभी ना लगाएं तुलसी का पौधा, बंद हो जाएगा धन-दौलत आने का रास्ता

सनातन धर्म में तुलसी के पौधे का एक अपना महत्व है. तुलसी के पौधे को मां लक्ष्मी का प्रतीक भी माना जाता है. तुलसी के पौधे से कई आध्यात्मिक बातें भी जुड़ी हुई हैं.

lतुलसी का विशेष उपाय कर गरीबी और आर्थिक तंगी को कोसों दूर रखा जा सकता है. लेकिन अगर तुलसी सही जगह ना रखी जाए तो ये अशुभ फल भी देती है. इसलिए तुलसी का पौधा हमेशा सही दिशा में रखना चाहिए.

वास्तु के अनुसार, तुलसी का पौधा बुध का प्रतिनिधित्व करता है. ऐसे में जिन लोगों का बुध ग्रह धन से संबंधित है वो लोग छत पर तुलसी को नहीं लगाएं.

बुध बुद्धि के साथ धन का भी ग्रह है और बुध को व्यापार का स्वामी माना जाता है. इसलिए तुलसी के पौधे को कभी भी छत पर ना रखें.

वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में तुलसी के पौधे के लिए उत्तर, उत्तर-पूर्व या पूर्व दिशा का चुनाव करना चाहिए. इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा पैदा होती है और नकारात्क ऊर्जा नष्ट हो जाती है.

आंगन में तुलसी का पौधा लगाते वक्त इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए कि घर की दक्षिण दिशा में तुलसी का पौधा ना लगे. अन्यथा इससे आपको नुकसान का सामना करना पड़ सकता है.

वास्तु के अनुसार, दक्षिण दिशा यमराज और पितरों की होती है. इसलिए तुलसी का पौधा इस दिशा में कभी न रखें.  तुलसी के पौधे को हमेशा साफ-सुथरे स्थान पर घर के मूल आधार से ऊंचे स्थान पर रखें.

घर की दक्षिण-पूर्व दिशा को अग्नि की दिशा मानी जाती है. इस दिशा में तुलसी लगाने से अच्छे परिणाम नहीं मिलते हैं. इसलिए तुलसी के पौधे को इस दिशा में लगाने से बचें.