ब्राउन राइस या व्हाइट: कौन सा बेहतर है?

चावल भारतीय खानपान का एक प्रमुख हिस्सा है, जिसके बिना कई लोगों का खाना अधूरा रह जाता है। खासकर दक्षिण भारत में चावल खाने का एक अभिन्न अंग होता है।

हालांकि, जब भी बात वजन कम करने की आती हैं, तो लोग सबसे पहले चावल को ही अपनी डाइट से आउट करते हैं।

ऐसे में लोगों के मन में अकसर यह सवाल रहता है कि व्हाइट राइस और ब्राउन राइस में से कौन ज्यादा सेहत के लिए गुणकारी है।

अगर आप भी अकसर इस बात को लेकर दुविधा में रहते हैं, तो ऐसे में आज हम आपको बताएंगे कि व्हाइट राइस और ब्राउन राइस दोनों में क्या सेहत के लिए ज्यादा लाभकारी है और क्यों?

ब्राउन राइस खाने से आपके पाचन स्वास्थ्य में सुधार होता है, वजन प्रबंधन में मदद मिलती है और कब्ज की संभावना भी कम होती है।

सफेद चावल की तुलना में ब्राउन राइस में ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है, जिससे इसे खाने के बाद ब्लड शुगर के स्तर में तेजी से बढ़ोतरी नहीं होती।

सफेद चावल की तुलना में ब्राउन राइस फाइबर, मैग्नीशियम और एंटीऑक्सीडेंट कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम कर सूजन को कम करने में मददगार है।

ब्राउन राइस में सफेद चावल की तुलना में हाई फाइबर कंटेंट ज्यादा होता है, जो लंबे समय तक पेट भरा रखते हैं, जिससे भूख कंट्रोल होती है।

ऐसे में ब्राउन राइस आपके लिए ज्यादा फायदेमंद हो सकते हैं। लाइफस्टाइल से जुड़ी तमाम बड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें