Falgun Amavasya 2024 : फाल्गुन अमावस्या पर कैसे करें पूर्वजों को प्रसन्न? जान लीजिए नियम….

Falgun Amavasya 2024 : फाल्गुन अमावस्या पर कैसे करें पूर्वजों को प्रसन्न? जान लीजिए नियम….

Falgun Amavasya 2024 : हिंदू धर्म में अमावस्या तिथि का बहुत महत्व है। अमावस्या पर पितरों की विशेष पूजा की परंपरा है। इस दिन पवित्र नदियों में स्नान और दान किया जाता है। साथ ही इस दिन कुछ उपाय करने से पितृ दोष से छुटकारा मिलता है।

हिंदू धर्म में फाल्गुन अमावस्या को बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है, जो हर साल फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष को आती है। यह अमावस्या महाशिवरात्रि पर्व के बाद 10 मार्च को पड़ती है। इस दौरान लोग अपने पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए दान, तर्पण और श्राद्ध करते हैं, वहीं कुछ लोग इस दिन व्रत भी रखते हैं।

Falgun Amavasya 2024
Falgun Amavasya 2024

फाल्गुन अमावस्या के दिन पितरों को प्रसाद अर्पित करने से उनकी आत्मा को शांति मिलती है। इस दिन पवित्र नदियों में स्नान का भी विशेष महत्व है। इसके पीछे मान्यता यह है कि फाल्गुन अमावस्या के दिन संगम तट पर देवताओं का वास होता है। धार्मिक विद्वानों का मानना ​​है कि यदि फालहुन अमावस्या के दिन पितरों को प्रसाद अर्पित किया जाए तो पूरे वर्ष अमावस्या के प्रसाद का फल प्राप्त होता है।

यह भी पढ़ें : Jio-airtel-VI : सरकार के ऐलान के बाद Jio, Airtel और VI में होगा संघर्ष! अडानी भी ठोकेंगे बड़ा दावा…

इस बार फाल्गुन अमावस्या पर विशेष योग भी बन रहा है। ऐसे में आप फाल्गुन अमावस्या पर कुछ उपाय करके अपने जीवन में खुशियां ला सकते हैं और पितरों को भी प्रसन्न कर सकते हैं। आइए जानें क्या हैं वो उपाय जिनसे पितर प्रसन्न होते हैं और आपको सुख-समृद्धि का आशीर्वाद देते हैं।

Falgun Amavasya 2024
Falgun Amavasya 2024

Falgun Amavasya 2024 के उपाय

फाल्गुन अमावस्या पर भगवान शिव की पूजा करें। शिव सहस्रनाम या शिव के पंचाक्षरी मंत्र का नियमित पाठ करने से शनि के प्रकोप का भय दूर होता है और सभी बाधाएं दूर होती हैं। इसके अलावा माता-पिता भी खुश हैं.

फाल्गुन अमावस्या के दिन दान करने का बहुत महत्व है। इस दिन गरीबों को खाना खिलाना और धन का दान करना उत्तम होता है। मान्यता है कि इस उपाय को करने से पितरों की कृपा प्राप्त होती है। इस दिन आप अपनी श्रद्धा के अनुसार वस्त्र, चीनी, अनाज आदि का दान भी कर सकते हैं।

अगर आप फाल्गुन अमावस्या के दिन पितरों को प्रसन्न करना चाहते हैं तो पशु-पक्षियों को भोजन कराएं। मान्यता है कि ऐसा करने से पितर प्रसन्न होते हैं और जीवन की परेशानियां दूर हो जाती हैं।

यदि आप पितृ दोष का सामना कर रहे हैं तो फाल्गुन अमावस्या के दिन निम्नलिखित मंत्र का जाप करें। मान्यता है कि इस उपाय को करने से पितृ दोष से मुक्ति मिलती है और पितृ प्रसन्न होकर आशीर्वाद देते हैं।

फाल्गुन अमावस्या के दिन पवित्र नदी में स्नान, जप, तप और दान करने की परंपरा है इसलिए इस दिन पवित्र नदी में स्नान करें और अन्य विशेष वस्तुओं का दान करें। इसके बाद सूर्य भगवान को जल अर्पित करें। इस दिन अपने पितरों की मुक्ति के लिए प्रार्थना करें।

फाल्गुन अमावस्या के दिन पीपल का पेड़ लगाएं और उस पेड़ की सेवा करें। ऐसा करने से पितर संतुष्ट होते हैं और उनके कष्ट कम होते हैं और उनका क्रोध दूर होता है।

यदि इस अमावस्या के दिन संपूर्ण गीता का पाठ करना संभव न हो तो सातवें अध्याय का पाठ अवश्य करना चाहिए। इस दिन पीपल के पेड़ पर मीठा जल चढ़ाएं और सरसों के तेल का दीपक जलाएं। ऐसा करने से माता-पिता की परेशानियां दूर हो जाती हैं।

Falgun Amavasya 2024
Falgun Amavasya 2024

फाल्गुन अमावस्या पर क्या न करें?
फाल्गुन अमावस्या के दिन रात के समय सुनसान जगह पर जाने से बचें। ऐसे स्थानों पर नकारात्मक शक्तियों का प्रभाव बढ़ जाता है।

फाल्गुन अमावस्या के दिन दूसरे के घर का भोजन करने से बचना चाहिए। जिससे पुण्य का फल समाप्त हो सकता है।

फाल्गुन अमावस्या के दिन क्रोध करने से बचना चाहिए। इस दिन लड़ाई-झगड़े से बचें।

फाल्गुन अमावस्या के दिन नए कपड़े, झाड़ू आदि खरीदने से बचना चाहिए। इस दिन कोई भी शुभ कार्य करने से बचना चाहिए।

फाल्गुन अमावस्या के दिन नाखून नहीं काटने चाहिए। ऐसा करने से आर्थिक नुकसान हो सकता है।

फाल्गुन अमावस्या के दिन पैसों के लेन-देन से बचें। इससे आर्थिक परेशानियां बढ़ सकती हैं।

more article : Electric Car : पंच और नेक्सन EV का खेल बिगाड़ेगी महिंद्रा की नई इलेक्ट्रिक कार! 400km का मिल सकता है रेंज; खरीदने की मचेगी लूट….

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *