इन 4 बातों से कभी भी न शर्माएं, नहीं तो बाद में आप को बहुत पछतावा होगा

इन 4 बातों से कभी भी न शर्माएं, नहीं तो बाद में आप को बहुत पछतावा होगा

चाणक्य नीति में मानव समाज के कल्याण से संबंधित कई नीतियों का उल्लेख है। जिससे यह पता चलता है कि व्यक्ति को किस स्थिति में कैसा व्यवहार करना चाहिए। ताकि उसे परेशानी का सामना न करना पड़े।

ऐसा कहा जाता है कि चाणक्य की नीतियों को समझने वाला और उन्हें अपने जीवन में उतारने वाला व्यक्ति हर संकट से आसानी से निकल सकता है। जानिए चाणक्य नीति में किन 4 बातों का जिक्र है, जिनमें बिल्कुल भी शर्म नहीं करनी चाहिए।

आचार्य चाणक्य का कहना है कि धन से जुड़े मामलों में शर्म नहीं करनी चाहिए। क्योंकि इसमें नुकसान पहुंचाने की क्षमता होती है। धन के मामले में शर्मीले व्यक्ति को भारी नुकसान उठाना पड़ता है। यदि आप किसी को पैसा उधार देते हैं लेकिन आपको अपना पैसा वापस मांगने में शर्म आती है, तो आप पैसे खो देंगे। ऐसे में आपकी आदत का फायदा उठाकर अगला व्यक्ति दोबारा पैसे मांगने में शर्म नहीं करेगा।

चाणक्य कहते हैं कि किसी को भी खाने में शर्म नहीं करनी चाहिए। किसी रिश्तेदार या किसी अजनबी के घर में खाना खाते समय लोगों को शर्मिंदगी महसूस होना और भूख से कम खाना आम बात है। चाणक्य कहते हैं कि व्यक्ति को कभी भी अपनी भूख को संतुष्ट नहीं करना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से आपको भूख लगेगी।

चाणक्य नीति के अनुसार, तीसरी चीज जिसमें व्यक्ति को बिल्कुल भी शर्म नहीं करनी चाहिए वह है ज्ञान प्राप्त करना। ऐसा कहा जाता है कि एक अच्छा छात्र वह होता है जो अपने शिक्षक से बिना किसी झिझक या शर्म के अपने सभी सवालों के जवाब पाता है। ऐसे विद्यार्थी में ज्ञान का अभाव नहीं होता और जो लज्जित होता है उसके पास ज्ञान का अभाव होता है। जिसके लिए उन्हें और अधिक कष्ट सहने पड़े।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *